प्रेसमैन टाइम्स

साल बदला लेकिन दिल्ली नही बदली! कार से लड़की को 12 किमी तक घसीटा, हुई मौत

साल बदला लेकिन दिल्ली नही बदली! कार से लड़की को 12 किमी तक घसीटा, हुई मौत, सभी आरोपी गिरफ्तार, दिल्ली पुलिस पर सवाल, सीन होगा रिक्रिएट, HM शाह ने मांगा रिपोर्ट, प्रदर्शन करते AAP ने भाजपा पर लगाया आरोप


दिल्ली के कंझावला इलाके में 31 दिसंबर को कार सवार 5 युवकों ने 20 साल की एक युवती को टक्कर मार दी. हादसे के बाद युवक कार लेकर भागने लगे. लड़की कार के नीचे फंसी रही और करीब 12 किलोमीटर तक सड़क पर घिसटती रही. पुलिस के मुताबिक, उसकी मौके पर ही मौत हो गई. पुलिस ने पांचों युवकों को गिरफ्तार कर लिया. आज आरोपियों को रोहिणी कोर्ट में पेश किया गया. कोर्ट ने पांचों आरोपियों मनोज मित्तल, दीपक खन्ना, अमित खन्ना, कृष्ण और मिथुन को तीन दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया है. दिल्ली पुलिस के मुताबिक, एक्सीडेंट के दौरान दीपक खन्ना कार को ड्राइव कर रहा था.


इधर, आम आदमी पार्टी की विधायक और दिल्ली की डिप्टी स्पीकर राखी बिड़लान ने दावा किया कि आरोपी भाजपा से जुड़े हैं, इसलिए पुलिस उन्हें बचा रही है. पुलिस BJP के दबाव में काम कर रही है. शाम को युवती की डेड बॉडी मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज लाई गई. यहां तीन डॉक्टरों के पैनल ने करीब डेढ़ घंटे पोस्टमॉर्टम किया. गृह मंत्री अमित शाह ने भी दिल्ली पुलिस से रिपोर्ट मांगी है. वहीं परिजनों का कहना है कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद ही वे अपनी बेटी का अंतिम संस्कार करेंगे. उन्होंने दोषियों को सख्त सजा देंगे की मांग की. अब पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट का इंतजार है.


दिल्ली पुलिस के स्पेशल CP डॉ. सागर पी हुड्डा ने बताया कि मेडिकल बोर्ड का गठन कर दिया गया है. दिल्ली पुलिस की कई टीमों को भी जांच में लगाया गया है. कोर्ट ने आरोपियों को तीन दिन की पुलिस रिमांड की मंजूरी दे दी है. आगे अब पुलिस क्राइम सीन रिक्रिएट करेगी. फोरेंसिक टीम ने घटनास्थल से सबूत जुटाए हैं. सीसीटीवी फुटेज और डिजिटल एविडेंस के आधार पर टाइमलाइन बनाई जाएगी. इसके लिए आरोपियों को क्राइम स्पॉट पर लाया जाएगा. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के आधार पर आरोपियों के खिलाफ और धाराएं जोड़ी जाएंगीं. शाम को युवती की डेड बॉडी मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज लाया गया. यहां करीब डेढ़ घंटे उसका पोस्टमॉर्टम हुआ.


मामले में दिल्ली पुलिस की थ्योरी भी सवालों के घेरे में आ गई है. पुलिस का कहना है कि ये जानलेवा एक्सीडेंट है, लेकिन परिवार वाले इसे मर्डर कह रहे हैं. पीड़ित की मां का कहना है कि वह बहुत सारे कपड़े पहने थी, लेकिन जब उसकी बॉडी मिली तो वह पूरी तरह नेकेड थी। एक भी कपड़ा नहीं था. ये कैसा एक्सीडेंट है? इधर, दिल्ली पुलिस की PRO सुमन अल्वा ने बताया कि कुछ चैनल इस केस में रेप और मर्डर की धाराओं को FIR में शामिल होने की खबर चला रहे हैं. यह गलत है. पीड़ित परिवार की भी मांग है कि इन धाराओं को भी जांच में शामिल किया जाए. अभी मेडिकल बोर्ड बॉडी की अटॉप्सी करेगी. रिपोर्ट आने के बाद ही इन मांगों पर कार्रवाई की जाएगी.


जो CCTV फुटेज सामने आए हैं. उनमें कार के नीचे युवती को घिसटते देखा जा सकता है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 12 किमी तक युवती कार में फंसी रही. घसीटे जाने की वजह से युवती की पीठ और सिर की हड्डियां बुरी तरह से घिस गईं. मांस निकल गया. दोनों पैरों की हड्डियां भी टूट गईं, जिससे उसकी बेहद दर्दनाक मौत हो गई. मोड़ आने की वजह से लड़की की बॉडी कार से अलग हुई. उसके सारे कपड़े फट गए थे. जब उसकी लाश मिली तो उसके शरीर पर एक भी कपड़ा नहीं बचा था. LG वीके सक्सेना के ऑफिस पर आप कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया. आप ने LG, पुलिस कमिश्नर और सुल्तानपुरी के SHO को बर्खास्त करने की मांग की.

Share on Instagram

About Krishn Praddhumn

    Comment By Gmail
    Facebook Comment

0 Comments:

Post a Comment